सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस सपा प्रदेश मुख्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस।

0

 

यूपी सरकार व प्रशासन पर उठा रहे सवाल अखिलेश यादव बयान किस तरह से मुंह छुपा कर लोग जेएनयू में घुसे और वहाँ तोड़ फोड़ की तमाम वीडियो वायरल हुए है।

योगेंद्र यादव जाने माने है उनके साथ भी धक्का मुक्की हुई है क्या ऐसा जेएनयू में नही हुवा जो बनारस में छात्र संघ के चुनाव के वक़्त हुवा था सड़क पर साफ दिखाई दे रही है मैंने बनारस के कप्तान से बात भी किया लेकिन पुलिस ने कोई करवाई उनपर नहीं किया एबीवीपी के लोग कालेज पर कब्ज़ा करना चाहते है ये भाजपा की सोच है।

भाजपा ये नही चाहती है की गरीब के बच्चे उस विश्विद्यालय में पहुँचे और पढ़ कर कुछ बन सके जेएनयू में पुलिस इस लिए इंतज़ार कर रही थी क्यो की वहाँ प्रशासन बैठे लोग ये जानते थे कि नकाब पोश लोग कब निकलेंगे कुछ लोग पुलिस के साथ पुलिस बनकर आये थे हमारी मांग है की जो लोग ऐसा कार्य कर रहे है सरकार और पुलिस की जानकारी में ऐसे लोगो पर कार्यवाही हो।

इसकी जांच हो की आखिर यूनिवर्सिटी को बर्बर्द करने के पीछे किसका हाथ है दंगो के लिए अगर कोई ज़िम्मेदार है तो उसके लिए खुद भाजपा ज़िम्मेदार है जितने लोगो की जान गई है वो पुलिस की गोली से गई है यूपी में कई जगह हुवा लेकिन वहाँ पुलिस अधिकारियों ने सूझ बूझ के साथ काम किया यूपी के सीएम ने अपनी कुर्सी बचाने के लिए ये सब किया है भाजपा के फैसलों से नौजवानों का रोज़गार छीन गया है अगस्त 2017 में 100 से अधिक बच्चो की प्रशासन की लापरवाही की वजह से मौत होगई थी मैंने मांग की थी बच्चों के परिजनों की मदद की जाए लेकिन सरकार ने उनकी मदद नही की सपा के लोगो ने उनकी मदद की ।

सीएम ने मारे गए बच्चो के परिजनों को सांत्वना देने के बजाए उनपर कटाक्ष किया था जनवरी 2019 से अक्टूबर 2019 के आंकड़े बताते है की दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या 1050 थी लेकिन यूपी सरकार ने दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या 5 सौ से कम बताई है इसकी जांच एक सिटिंग जज की देख रेख में हो जब जांच होगी तो सच्चाई खुद बखुद सामने आजाएगी मुलायम सिंह सरकार ने 25 हज़ार मृतक बच्चों के परिजनों को देने की घोषणा की थी और दिव्यांग बच्चो को 50 हज़ार देने की घोषणा की थी और जब 2012 में फिर हमारी सरकार आई तो 50 हज़ार मृतक बच्चों के परिजनों के दिया जाता था और दिव्यांग बच्चो को 1 लाख दिया जाता था।

गोरखपुर मेडिकल में गलत दवाइया दी जा रही है सीएम योगी गोरखपुर जाते है क्यो जाते है पता नही है भाजपा के लोग ये समझते है की धर्म से कैंसर का इलाज होगा धर्म से तो सर दर्द भी नही ठीक होगा भाजपा के लोगो को अगर अपना नाम रखने की आदत है तो खुद काम करवाइए और नाम गुड़वाईये लखनऊ में साइकिल ट्रैक तोड़ रहे है और हमारी तरीके से दिल्ली में करना चाहते है हमसे पूछ लें हम बता दे की साइकिल ट्रैक का एक्सपर्ट कौन है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Translate »