अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले लोगों के लिये कंपनी ने भेजे 1.2 लाख मास्‍क और 75,000 ग्‍लव्‍स

0

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने पेटीएम की तारीफ करते हुये अपने ऑफिशियल हैंडल से ट्वीट किया है। राज्‍य सरकार ने अपने इस ट्वीट में अपने फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिये 1.2 लाख मास्‍क और 75,000 ग्‍लव्‍स एवं अन्‍य हाइजीन प्रोडक्‍ट्स उपलब्‍ध कराने के लिये पेटीएम की सराहना की है। इस हैंडल पर पेटीएम के साथ  लाइफब्‍वॉय और यूवीकैन को भी धन्‍यवाद दिया गया है। यूपी सरकार के अलावा, अलीगढ़ पुलिस ने भी 3000 मास्‍क, 1500 ग्‍लव्‍स और 20 लीटर सैनिटाइजर भेजने के लिये सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर कंपनी का आभार जताया है। गौरतलब है कि पेटीएम द्वारा देश भर में लोगों को फेस मास्‍क और हाइजीन प्रोडक्‍ट्स दिये जा रहे हैं, ताकि कोविड-19 से लड़ने में फ्रंटलाइन वर्कर्स की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

कंपनी ने जाने-माने शेफ विकास खन्‍ना के साथ भी हाथ मिलाया है। इस सहयोग के तहत, घर वापस लौट रहे प्रवासी लोगों को भोजन उपलब्‍ध कराया जा रहा है। हाल ही में उत्‍तर प्रदेश में मुगल सराय में ट्रेनों में खाने के 2000 पैकेट्स बांटे गये।

पेटीएम द्वारा भारत सरकार, सेना, सीआरपीएफ, पुलिस,अस्‍पतालों, म्‍यूनिसिपल बॉडीज और डिस्ट्रिक्‍ट मजिस्‍ट्रेट्स कार्यालयों को 4 लाख मास्‍क और 10 लाख हाइजीन प्रोडक्‍ट्स भेजे जा रहे हैं। इन कार्यालयों के अधिकारियों द्वारा ये सामान महामारी को फैलने से रोकने के लिये अग्रिम पंक्ति में काम कर रहे लोगों को बांटे जायेंगे। यूपी सरकार के अलावा, सीआरपीएफ जम्‍मू, हैदराबाद पुलिस, कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री, राष्‍ट्रीय मानव आयोग असम और भुबनेश्‍वर नगर निगम ने भी पेटीएम के योगदान के लिये अपने आधिकारिक हैंडल पर ट्वीट किया है।

पिछले कुछ महीनो  में पेटीएम ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कई पहलों की शुरूआत की हैं। कंपनी पीएम केयर फंड में 500 करोड़ रुपये के योगदान के लिए डोनेशन इकट्ठा कर रही है। कंपनी मजदूरों के भोजन के लिए भी डोनेशन इकट्ठा कर रही है और केवीएन फाउंडेशन के साथ मिलकर इस पहल पर काम कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Translate »