गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या |

0

आपको बता दें कि विक्रम जोशी को बदमाशों ने बीच राह उनकी बेटियों के सामने ही सिर में गोली मार दी थी। दरअसल, उन्होंने अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ के विरोध में पुलिस को तहरीर दी थी। इससे नाराज बदमाशों ने विक्रम को सोमवार रात सर में गोली मारी थी। वे दो दिन से अस्पताल में थे और उनकी हालत बेहद गंभीर थी। आज सुबह उन्होंने गाजियाबाद के यशोदा अस्पताल में दम तोड़ दिया। आपको बता दें कि इस मामले में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, एक चौकी इंचार्ज को निलंबित किया गया है। हत्या पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आर्थिक मदद का एलान किया है। सीएम योगी ने कहा कि विक्रम जोशी के परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके साथ ही पत्नी को नौकरी और बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने का आदेश दिया गया है। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद किया था। वहीं, छेड़छाड़ के मामले में शिकायत मिलने के बावजूद कार्रवाई न करने वाले प्रताप विहार चौकी इंचार्ज राघवेंद्र सिंह को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया था। पुलिस की लापरवाही को लेकर सीओ प्रथम को विभागीय जांच सौंपी है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि मीडियाकर्मी विक्रम जोशी के भाई अनिकेत जोशी ने रवि, छोटू और आकाश बिहारी को नामजद करते हुए कई अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी थी। मुकदमा दर्ज कर फरार एक आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छह टीमें गठित की हैं। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि विक्रम जोशी पर हुए हमले में विजयनगर पुलिस ने उनके भाई अनिकेत जोशी की तहरीर पर छोटू, रवि और आकाश बिहारी समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस की छह टीमों का गठन किया गया था। घटना के दो घंटे बाद ही पुलिस ने मुख्य आरोपित विजयनगर माता कॉलोनी निवासी रवि को गिरफ्तार लिया। इसके बाद पुलिस ने चरण सिंह कॉलोनी निवासी छोटू, देवव्रत कॉलोनी निवासी मोहित, विजयनगर सेटर नौ निवासी दलवीर सिंह, चरण सिंह कॉलोनी निवासी आकाश उर्फ लुल्ली, विजयनगर सेक्टर-11 निवासी योगेंद्र, लाल क्वार्टर साहिबाबाद निवासी अभिषेक हल्का व चरण सिंह कॉलोनी निवासी शाकिर को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में अभी माता कॉलोनी निवासी आकाश बिहारी फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Translate »