जयप्रकाश अग्रवाल को लेकर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह

0
54

पिछले 10 सालों में दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों से भाजपा के सांसदों ने दिल्ली से संबंधित एक भी मुद्दे पर संसद में कोई चर्चा नहीं की और ना ही दिल्ली को लेकर कोई सवाल सदन में उठाया। पिछले एक दशक से देश में किसी पार्टी (भाजपा )की सरकार नहीं एक व्यक्ति विशेष की सरकार चल रही है जो तानाशाह और अहंकारी है।
चांदनी चौक लोकसभा सीट से कांग्रेस और आम आदमी पार्टी गठबंधन के सांझा उम्मीदवार वरिष्ठ नेता श्री जयप्रकाश अग्रवाल को विजयी बनाने के लिए शकूरबस्ती विधानसभा के कांग्रेस एंव आम आदमी पार्ट के नेताओं व कार्यकर्ताओं की एक संयुक्त मीटिंग (बैठक) में मोदी सरकार को लेकर कांग्रेस व आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं का यह निष्कर्ष निकला। आज सोमवार शाम को झंग भवन रानी बाग, शकूर बस्ती में हुई बैठक में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं सहित दोनों पार्टियों के सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी गठबंधन के तहत चांदनी चौक लोकसभा सीट से प्रत्याशी जयप्रकाश अग्रवाल के समर्थन में दिल्ली में यह पहली बैठक हुई जिसमें दोनों पार्टियों के नेता और कार्यकर्ताओं ने मिलकर चुनाव में जयप्रकाश अग्रवाल को कैसे विजयश्री दिलाई जाए इस पर चर्चा की और चुनावी रणनीति बनाई।
बैठक में श्री जयप्रकाश अग्रवाल मुख्य रूप से शामिल हुए । उनके अलावा बैठक में जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनोज यादव, शकूरबस्ती विधानसभा के आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष अरुण गुप्ता ,संगठन मंत्री अश्विनी गर्ग, कांग्रेस के विधायक प्रत्याशी कमलकांत, देवराज अरोड़ा,चमन लाल शर्मा ,पूर्व पार्षद रोशन लाल आहूजा, शालू दुग्गल आदि मुख्य रूप से मौजूद थे। बैठक में दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के गठबंधन प्रत्याशियों को जिताने और तानाशाही एवं अहंकारी मोदी सरकार को हराने का संकल्प लिया।
अपने प्रचार अभियान के दौरान श्री जयप्रकाश अग्रवाल ने दोपहर में शकूरबस्ती लोकसभा क्षेत्र में सीमेंट साईडिंग गोदाम के पास स्थित झुग्गियों में आग लगने से प्रभावित लोगों से मुलाकात की और उनका हाल-चाल जाना। श्री अग्रवाल ने प्रभावित झुग्गीवासियों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। साथ ही प्रभावित परिवारों के लिए खाने-पीने और रात गुजारने आदि की व्यवस्था करने के लिए कांग्रेस के क्षेत्रीय नेताओं को कहा।