एनडीएमसी ने पर्यावरण के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए कई प्रभावशाली कार्यक्रमों के साथ ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ मनाया।

0
14

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) ने पर्यावरण के लिए सतत  जागरूकता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कई प्रभावशाली कार्यक्रमों के साथ नई दिल्ली में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया।

विश्व पर्यावरण दिवस की पहल में एनडीएमसी के अध्यक्ष – श्री अमित यादव, उपाध्यक्ष – श्री सतीश उपाध्याय और नई दिल्ली को स्वच्छ और हरित बनाने के लिए समर्पित विभिन्न सहयोगी संगठनों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति रही।

जनपथ मार्केट में विकल्प हाट का उद्घाटन

जनपथ मार्केट से सिंगल-यूज प्लास्टिक (एसयूपी) को खत्म करने की दिशा में एक बड़े कदम के रूप में, एनडीएमसी ने जनपथ मार्केट में बैंक ऑफ बड़ौदा के पीछे स्थित आइडिएशन सेंटर का उद्घाटन किया, जिसे विकल्प हाट के नाम से भी जाना जाता है, जो हर शनिवार और रविवार को शाम 4 बजे से शाम 7 बजे तक चालू रहेगा।

यह पहल “व्हाई वेस्ट वेडनसडे” और कॉलेज ऑफ वोकेशनल स्टडीज, दिल्ली की एनएसएस इकाई के सहयोग से आयोजित की गई थी। इस कार्यक्रम में नागरिकों और दुकानदारों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया और उन्हें सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग बंद करने के लिए प्रेरित किया गया।

शुरुआती कदम के रूप में,150 दुकानदारों को एक महीने की अवधि में पांच -पांच मुफ्त कपड़े के थैले दिए जाएंगे, जो जनपथ मार्केट के सिंगल यूज प्लास्टिक -मुक्त विकल्प मार्केट में बदलने की शुरुआत का प्रतीक है।

पालिका बाजार में होम कम्पोस्टिंग और स्रोत स्थल पर ही कूड़े को अलग करने  को बढ़ावा

पालिका बाजार गेट-1 पर, एनडीएमसी ने वॉव एनजीओ के सहयोग से होम कम्पोस्टिंग गतिविधियों और स्रोत पर ही कूड़े के पृथक्करण को बढ़ावा देने की पहल शुरू की। एनडीएमसी के अध्यक्ष श्री अमित यादव ने कार्यक्रम में भाग लिया और कचरे को कम करने और एक स्थायी एवं सतत पर्यावरण को बढ़ावा देने में इन प्रयोगों के महत्व पर जोर दिया घर पर प्रभावी ढंग से कम्पोस्ट बनाने और स्रोत पर कचरे को अलग करने के तरीके के बारे में उपस्थित लोगों को शिक्षित करने के लिए प्रदर्शन और सूचनात्मक सत्र भी आयोजित किए गए।

खान मार्केट में कचरा संग्रहण कार्यक्रम

खान मार्केट ट्रेड एसोसिएशन और चिंतन एनजीओ के सहयोग से, एनडीएमसी ने खान मार्केट में एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किया, जिसमें एनडीएमसी के उपाध्यक्ष श्री सतीश उपाध्याय ने भाग लिया, यह कार्यक्रम 9 जून 2024 तक घरेलू खतरनाक कचरे (डीएचडब्ल्यू) के लिए संग्रह अभियान और घरेलू खाद बनाने के प्रयोगों को बढ़ावा देने पर केंद्रित रहेगा।

एक विचारोत्तेजक नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन भी इस अवसर पर किया गया, जिसमें दर्शकों को वार्तालाप में शामिल किया गया और साथ ही जिम्मेदार कचरा प्रबंधन का संदेश दिया गया।

उपस्थित लोगों को अपने घरेलू खतरनाक कचरे (डीएचडब्ल्यू) का जिम्मेदारी से निपटान करके पर्यावरण में योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया गया। इसके अतिरिक्त, टिकाऊ कचरा प्रबंधन और घरेलू खाद बनाने के प्रयोगों को बढ़ावा देने के लिए गीले कचरे से बनी खाद भी वितरित की गई।

इन पहलों और प्रयोगों के प्रदर्शन का उद्देश्य रीसाइक्लिंग और उचित कचरा निपटान के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है, जो अंततः एक स्वच्छ और हरित पर्यावरण में योगदान देता है।

विश्व पर्यावरण दिवस पर एनडीएमसी के प्रयास पर्यावरणीय स्थिर, सततता और सामुदायिक भागीदारी के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को उजागर करते हैं।