सत्रहवीं बार कीमत बढ़ाए जाने के कारण पेट्रोल और डीज़ल का मूल्य मंगलवार को भारत में अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया

0

सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों ने जो नई कीमतें जारी की हैं, उसके तहत पेट्रोल 26 पैसा प्रति लीटर और डीजल 23 पैसा और महंगा हो गया है. दिल्ली में पेट्रोल अब तक की सबसे महंगी कीमत पर 94.49 रुपये प्रति लीटर की दर से बिक रहा है जबकि डीज़ल 85.38 रुपया प्रति लीटर बेचा जा रहा है. ढुलाई खर्च और राज्यों में लगने वाले वैट जैसे स्थानीय टैक्स के कारण पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग हैं. भारत में राजस्थान में पेट्रोल और डीज़ल पर सबसे ज्यादा वैट वसूला जाता है. इसके बाद मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र का नंबर आता है. राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के कई शहरों में पेट्रोल की कीमतें पहले ही 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर जा चुकी हैं. मंगलवार को कीमतों में जो इजाफा किया गया है, उससे इन जगहों पर पेट्रोल और डीजल और महंगा हो गया. मुंबई में पेट्रोल 100.72 रुपया प्रति लीटर की दर से बेचा जा रहा है जबकि डीजल 92.69 रुपये प्रति लीटर की रेट से. चार मई के बाद से अब तक 17 बार पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ाई जा चुकी हैं. हालांकि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के वक्त सरकारी तेल कंपनियों ने 18 दिनों तक पेट्रोल और डीजल की कीमतें नहीं बढ़ाई थीं.सत्रह बार की गई मूल्य वृद्धि के कारण पेट्रोल 4.09 रुपये प्रति लीटर और डीजल 4.65 रुपये प्रति लीटर की दर महंगा हो गया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.