भारतीय हैंडबॉल को बढ़ावा देने के लिए एचएफआई ने विश्व निकाय से मुलाकात की, भारत में इस खेल को विकसित करने पर की चर्चा

0

हैंडबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया (HFI) के कार्यकारी निदेशक आनंदेश्वर पांडे ने 2020 टोक्यो ओलंपिक खेलों के मौके पर अंतर्राष्ट्रीय हैंडबॉल महासंघ (IHF) के अध्यक्ष हसन मुस्तफा से मुलाकात की और भारत में हैंडबॉल के विकास को बढ़ावा देने के रोडमैप पर चर्चा की।

बैठक में इस बात पर चर्चा की गई कि कैसे आईएचएफ भारतीय हैंडबॉल खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय एक्सपोजर के अवसर प्रदान करा सकता है और स्थानीय कोचों और तकनीकी अधिकारियों को प्रशिक्षित करने के लिए शीर्ष विदेशी कोच और विशेषज्ञों की सेवाएं ले सकता है, जिससे कि उनके कौशल का विकास हो सके।

पांडे ने कहा, “आईएचएफ अध्यक्ष के साथ यह एक बहुत ही सार्थक बैठक थी। भारत में हैंडबॉल में हमारे पास इतनी क्षमता है, इसे बस कुछ समर्थन और सही दिशा में ले जाने की जरूरत है। आईएचएफ देश में इस खेल को लोकप्रिय बनाने के लिए हमारा समर्थन करने में बहुत रुचि रखता है। हमने इस बात पर भी चर्चा की कि कैसे आईएचएफ इस खेल को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के हमारे मिशन में हमारी मदद कर सकता है। पांडे ने आगे कहा, लीग निश्चित रूप से इस खेल को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। हमने बैठक के दौरान पीएचएल पर विस्तृत चर्चा की और आईएचएफ हर संभव तरीके से समर्थन करने के लिए तैयार है। यह जानते हुए कि लीग हमें प्रतिभाशाली खिलाड़ियों का एक बड़ा पूल बनाने में मदद करेगी और उन्हें उनके करियर में एक बहुत ही आवश्यक वित्तीय स्थिरता भी देगी। 

टारगेट ओलंपिक पोडियम (टाप्स) योजना के तहत युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा हैंडबॉल को प्राथमिकता वाले खेल के रूप में पहचाना गया है और वर्तमान में देश में इसके करीब 80 हजार पंजीकृत खिलाड़ी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.