विज्ञान एवं आत्म जागरूकता विषय पर तीन दिवसीय वेदांत महोत्सव का आयोजन

0
181

प्रशांत अद्वैत फाउंडेशन के संस्थापक आचार्य प्रशान्त ने तीन दिवसीय वेदान्त महोत्सव के दौरान विज्ञान और आत्म जागरूकता पर व्याख्यान दिया साथ ही उपस्थित लोगों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का आचार्य प्रशान्त ने समाधान किया।
आचार्य प्रशांत, आईआईटी और आईआईएम दोनों के पूर्व छात्र, और एक पूर्व सिविल सेवक रहे हैं ने आईआईटी में आयोजित वेदान्त महोत्सव में “विज्ञान और आत्म-जागरूकता” विषय पर उपस्थित लोगों के साथ खुलकर बातचीत की।पूर्व छात्र संघ, आई.आई.टी. दिल्ली के अध्यक्ष (Kalpen Shukla) ने कहा: “आई.आई.टी. दिल्ली पूर्व छात्र संघ, वेदांत महोत्सव की मेज़बानी करने पर गर्व महसूस कर रहा है। आचार्य प्रशांत ने आई.आई.टी. दिल्ली और आई.आई.एम.ए. से उच्च शिक्षा लेने के बाद अपने लिए एक बहुत ही अनोखा रास्ता तैयार किया है, और अपने प्रेमपूर्ण तथा प्रभावशाली प्रवचनों के माध्यम से जनमानस में ज्ञान एवं प्रेम की अलख जगा रहे हैं।”वेदांत की अपनी गहरी समझ और अध्ययन के माध्यम से, आचार्य प्रशान्त ने मानव मन में गहरी अंतर्दृष्टि के साथ प्रतिक्रिया दी, जिससे प्रश्नकर्ता को स्पष्टता और शांति का अनुभव हुआ। आयोजन समिति के सदस्य रोहित राजदान ने महोत्सव पर टिप्पणी करते हुए कहा, “वेदांत महोत्सव में भाग लेने वाले दुनिया भर से आते हैं, यह दिखाते हुए कि वेदांत के पास उन सभी मुद्दों का समाधान है जो मानव मन और मानव जाति को पीड़ित करते हैं।” इस आयोजन के बारे में बोलते हुए, आईआईटी के एलुमिनी यूनियन के पंकज कपाडिया ने कहा, “आचार्य-प्रशान्त को आईआईटी दिल्ली में पाकर खुशी हुई, जहां वे कभी छात्र थे” आज वह पूरी देश दुनिया को नई दिशा दे रहे हैं।”उल्लेखनीय है कि आचार्य प्रशांत एक आईआईटी और आईआईएम के पूर्व छात्र हैं, एक आईसीएसई टॉपर और एक एनटीएसई विद्वान, एक पूर्व सिविल सेवक हैं, और उन्होंने प्रशांत अद्वैत शुरू करने से पहले जीई कैपिटल, ईसीएस और बेनेट कोलमैन एंड कंपनी जैसे प्रमुख संगठनों में काम किया है। वह अपनी शिक्षाओं को सोशल मीडिया, ऑनलाइन प्रवचनों और व्याख्यानों, वाद-विवादों, मासिक वेदांत महोत्सव और दुनिया भर के विभिन्न प्लेटफार्मों पर एक-से-एक परामर्श के माध्यम से साझा करते हैं। आचार्य प्रशान्त के निडर संदेश ने पुस्तकों के माध्यम से लोगों, जानवरों और स्वयं पृथ्वी के जीवन को बेहतर बनाया है। उन्होंने जॉय, लव, और मैरिज टू द स्क्रिप्चर्स ऑन द स्क्रिप्चर्स जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर 80 से अधिक पुस्तकें लिखी हैं, जिनमें उनके राष्ट्रीय बेस्टसेलर, कर्म और उनकी सबसे हालिया पुस्तक, आनंद शामिल हैं। हाल ही में, उनकी छह किताबें अमेज़न पर|

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here