दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार के आसमानी बिजली और जल बिल के खिलाफ आज सांसद श्री प्रवेश साहिब सिंह जी ने लोकसभा में मुद्दा उठाया।

0

बीजेपी सीनियर नेता प्रवेश वर्मा जी ने पार्लियामेंट में बिजली का मुद्दा उठाया और कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली की आम जनता के साथ धोखा कर रही है। उन्होंने कहा कि मैं एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय पर सभी का और सरकार का ध्यान दिलाना चाहता हूं उन्होंने बोला कि झूठ से जुड़ा हुआ एक मुद्दा है और सबसे बड़ा घोटाला है और उन्होंने बोला कि दिल्ली में जो सरकार 7 वर्षों से सत्ता मै आई है वहां गरीबों और वंचितों से एक वादा करके आई थी। कि हम बिजली और पानी मुफ्त में दिलाएंगे। मदर आज दिल्ली में बिल्कुल इसका विपरीत हो रहा है पहले छह महीना बिजली पानी फ्री कर दिया जाता है कि सातवें महीने पूरे 6 महीने का मिलाकर इकट्ठा बिल दे दिया जाता है। मैं बहुत सारे तो नहीं पर कुछ बिल लेकर आया हूं यह मैं पूरे दिल्ली वासी, सदन और सरकार को दिखाना चाहता हूं कि यह दिल्ली जल बोर्ड का 42000 का एक घर का बिल है और बिल ना देने के कारण पानी का कनेक्शन काट दिया गया है। और उन्होंने कई जिलों के बारे में भी बताया जैसे ख्याला जे जे बस्ती जिला में पानी का बिल 31000 घर में आता है और 600000 बिजली का बिल आता है जो केवल 22 गज का मकान है। फिर चावला झुग्गी में 433000 का बिल आया है। और उन्होंने कहा कि जब चुनाव आता है तो दिल्ली के मुख्यमंत्री लोगों के घरों में बिजली का बिल जीरो में भेजते हैं और चुनाव खत्म होते ही अगला पिछला सारे बिलों को जोड़कर एक साथ भेज दिया जाता है। और उन्होंने बोला कि मैं आपके माध्यम से दिल्ली सरकार का ध्यान इस विषय पर केंद्रित करना चाहता हूं ।आज दिल्ली में सबसे महंगी बिजली है आज घर में ₹8 .90 पैसे पर यूनिट की बिजली मिलती है और जो कमर्शियल एरिया है वहां पर ₹18 रुपया 90 पैसे पर यूनिट की बिजली मिलती है। और दिल्ली के किसानों को खेती के लिए कनेक्शन ही नहीं मिलता आज फिक्स चार्जेस है देश में वह भी सबसे ज्यादा है घरों में ₹173 है और कमर्शियल यूनिट में ₹270 है । और उन्होंने बोला कि मेरा आपसे एक निवेदन है की इसकी जांच होनी चाहिए क्युकी सरकार बोलती है कि जीरो दे रहे हैं और वह पंजाब में मुख्यमंत्री एक लाख बिल ले जाता है और मैं यहां पर एक लाख का बिल तो नहीं ला सका लेकिन मैं भी ला सकता हूं।
सरकार ज़ीरो का आंकड़ा दिखा रही है लोगों के घरों में लाखों का बिल आ रहा है तो यह कितना बड़ा घोटाला है और यह पैसा कहां। पर ट्रांसफर हो रहा है कितने झूठे विज्ञापन पर लग रहा है सरकार को दिल्ली के मुख्यमंत्री से पूछना चाहिए ।बच्चों के एजुकेशन पर बहुत फर्क पड़ रहा है इतने बड़े पांडेमिक में बच्चों की शिक्षा बिना बिजली के नहीं हो सकती है और उनकी शिक्षा के लिए बिजली का होना अनिवार्य है क्योंकि लोगों के ऊपर बिजली और पानी की दोहरी मार पड़ रही है लोग उधार ले लेकर अपना कनेक्शन जोड़ते हैं। और ऐसे समय में ही दिल्ली के मुख्यमंत्री लोगों के साथ धोखा और फरेब कर रहे हैं और इतना बड़ा घोटाला कर रहे हैं और मैं सरकार से निवेदन करता हूं कि इस की सख्ती से जांच होनी चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.