नोबेल under the blue skies नाम की नोवेल रिलीज की

0

रोशनारा क्लब मैं शिवाजी कॉलेज इंग्लिश डिपार्टमेंट की सोनाली गर्ग है अपनी पहली नोबेल under the blue skies नाम की नोवेल रिलीज करी ।जिसमे मुख्य अतिथि नसीर शर्मा जो साहित्य अकेडमी अवार्ड के विनर रह चुके है और डॉक्टर आनंद प्रकाश ,डॉक्टर इंद्र मोहन कपाह्य और प्रोफेसर अंजना नीरा देव और दिल्ली यूनिवर्सिटी के कई अध्यापक और प्रोफेसर मौजू थे।और इस नोवेल के पब्लिशर ऑरेंज बुक इंटरनेशन है ।और सोनाली गर्ग ने बताया की इस बुक को लिखने मै  दिन रात एक कर दिया ।और यह उनकी पहली नोवेल है। यह उपन्यास नीले गगन के तले धरती मानव जीवन की दुरहा प्रक्रियाओं संघर्षों और जीवन मूल्यों की बात करता है ।मुख्य नायक सत्य प्रकाश एक छोटे से गांव से निकल भारतीय वायु सेना की पंक्तियों तक उड़ान भरने जा पहुंचता है। किंतु कुछ आकस्मिक निर्णय से वापस नागरिक जीवन में धकेल देते हैं वह स्वयं को समेटकर दोबारा परिस्थितियों से लड़ने को तैयार होता है किंतु तथा जीवन युद्ध हार जाता है ,और मृत्यु से अपने दामन में समेट लेती है। ऐसा क्यों होता है कि मनुष्य पर परिस्थितियां भारी पड़ जाती हैं? क्यों हम अपनी सारी क्षमताओं के बावजूद एक सीमा के बाद हार मान लेते हैं? ऐसे कुछ प्रश्न और उनसे जुड़ी भारतीय समाज के बदलती संरचनाएं इस उपन्यास में उभरती हैं और पाठक को प्रेरित करती है कि वह स्वयं निजी जीवन में इनके उत्तर तलाशने का प्रयास करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.