कमरतोड़ महंगाई और बेरोजगारी को लेकर केन्द्र की भाजपा व दिल्ली की आप पार्टी की सरकार के खिलाफ जन्तर-मन्तर से कांग्रेस पार्टी द्वारा संसद घेराव रैली का अयोजन किया गया।

0

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में आज हजारों की सख्यां में आक्रोषित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बढ़ती मंहगाई, बेरोजगारी, केन्द्र सरकार की हठधर्मिता, तानाशाही और आम आदमी पार्टी की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराते हुए संसद का घेराव करने जंतर मंतर पहुंचे, जहां मौजूद अतिरिक्त सुरक्षा बलों ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बीच में ही रोक दिया गया। जंतर मंतर पर मौजूद जनसैलाब से यह जाहिर हो रहा था कि दिल्ली का हर परिवार बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी से प्रभावित है।

प्रदर्शनकारियेां को सम्बोधित करते हुए चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मौजूद केन्द्र में भाजपा की मोदी की तानाशाही के चलते आज देश के गरीब, मजदूर, निम्न व मध्यम वर्ग की हालत दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है। महंगाई में बेतहाशा वृद्धि से परेशान देशवासियों के अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले विपक्ष की बात को केन्द्र सरकार सड़क या संसद कहीं सुनने को तैयार नही है। उन्होंने कहा कि कोविड के बाद केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण उपजे आर्थिक संकट के चलते कमरतोड़ महंगाई और बढ़ती बेरोजगारी से लोगों के लिए अजीविका का संकट खड़ा हो गया है और मोदी सरकार विपक्ष की हर बात को अनसुना कर रही है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी मुख्य विपक्ष की भूमिका निभाते हुए संसद और सड़क पर जनता के दुख, उनके अधिकारों की लड़ाई और बढ़ती महंगाई के खिलाफ जब आवाज उठाती है तो भाजपा की मनुवादी सोच वाली केन्द्र सरकार हर मोर्चे पर उस आवाज को दबाने का षड़यंत्र अपनाती है। उन्होंने कहा कि आज सरकार जनता के हितों व अधिकारों से जुड़े किसी मुद्दे पर उच्चत्तम पटल संसद तक में चर्चा करने को तैयार नही और यदि कुछ सांसद अधिकारों के लिए अपनी बात कहते हैं तो उन्हें संसद से बर्खास्त कर दिया जाता है। मोदी सरकार की विपक्ष को दबाने की नीति के कारण जनप्रतिनिधि सांसदों को अधिकारों के लिए मजबूरन धरने पर बैठना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा राज्यसभा से 12 सांसदों को अलोकतांत्रिक तरीके से fu’dkflr करने के बाद माफी मांगने के लिए उन पर दबाव बनाया जा रहा है, उन्होंने कहा कि सांसद किसी भी सूरत में माफी नहीं मांगेंगे क्योंकि जब राज्यसभा के कांग्रेस सांसदों ने कुछ लगत किया ही नही तो माफी किस बात की। संसद घेराव प्रदर्शनकारियों में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के अलावा अ0भा0क0कमेटी के दिल्ली प्रभारी श्री शक्तिसिन्ह गोहिल, लोकसभा में कांग्रेस के नेता सांसद अधीर रंजन चौधरी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कृष्णा तीरथ, पूर्व सांसद उदित राज, रमेश कुमार, चौ0 तारीफ सिंह, राष्ट्रीय महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष नेट्टा डिसूजा, दिल्ली के पूर्व मंत्री डा0 नरेन्द्र नाथ, किरण वालिया, अ0भा0क0कमेटी सचिव प्रणव झा, सी.पी. मित्तल, तरूण कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष जय किशन, अली महेंदी, मुदित अग्रवाल, शिवानी चौपड़ा, पूर्व विधायक राजेश लिलौठिया, चौ0 मतीन अहमद, विजय लोचव, कुंवर करण सिंह, भीष्म शर्मा, चरण सिंह कंडेरा, राजेश जैन, अमरीश गौतम, दर्शना रामकुमार, अल्का लाम्बा, डा. नरेश कुमार, राजेश गर्ग, दिल्ली कांग्रेस मीडिया संचार विभाग के उपाध्यक्ष परवेज आलम व अनुज अत्रेय, दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अमृता धवन, विधिक एवं मानव अधिकार विभाग के चैयरमेन एडवोकेट सुनील कुमार, दिल्ली सेवादल संगठन चीफ सुनील कुमार आदि मौजूद थे इसके अलावा केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा अलोकतांत्रिक तरीके से राज्यसभा से  सभी कांग्रेस सांसद भी मंच पर मौजूद थे।
मुख्य संवाददाता,

Leave A Reply

Your email address will not be published.