भारत की पहली रीजनल रेल के यात्रियों के लिए अब मंज़िल दूर नहीं – IITF मेले के विजिटर कर रहे इसका अनुभव-

0
168

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के निवासियों के लिए जो दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ मार्ग में दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच नियमित यात्रा करते हैं, उनके लिए अब मंज़िल दूर नहीं हैं। क्योंकी इन यात्रियों के लिए 5 स्टेशनों के साथ 17 किलोमीटर लंबे प्रायोरिटी सेक्शन पर जल्द ही परिचालन
शुरू किया जाने वाला है।

प्रगति मैदान, नई दिल्ली के हॉल नंबर 5 में स्थापित एनसीआरटीसी प्रदर्शनी में इसे विशेष रूप से दर्शाया गया है। यह इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर, 27 नवंबर 2022 तक जनता के देखने के लिए उपलब्ध है। एनसीआरटीसी, प्रदर्शनी स्टाल पर नियमित अंतराल पर प्रश्नोत्तरी भी आयोजित कर रहा है जिसमें बड़ी संख्या में लोग भाग ले रहे हैं। वे आरआरटीएस परियोजना से संबन्धित सवालों के जवाब देने और उपहार जीतने के लिए उत्सुक हैं। उनमें से कुछ ने आरआरटीएस के बारे में अपने उत्साह को भी साझा किया और कहा कि वे इस क्षेत्र में इसके परिचालन के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। लोग आरआरटीएस के फर्स्ट राइडर बनने के मौके को लेकर भी उत्साहित हैं। आगंतुकों को केवल
एक क्यूआर कोड स्कैन करना है जो उन्हें फॉर्म भरने के लिए निर्देशित करता है।

एनसीआरटीसी अगले महीने दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के 17 किलोमीटर लंबे प्रायोरिटी सेक्शन पर ट्रायल रन के लिए कमर कस रही है। एक्सिबिशन बूथ परिवहन के क्षेत्र में होने वाली इस क्रांति की अंतर्दृष्टि प्रदान करता है। 14 दिनों तक चलने वाले इस आईआईटीएफ़ के इस प्रतिष्ठित मेले, IITF 2022 का आयोजन 14 से 27 नवंबर तक प्रगति मैदान में किया जा
रहा है।