अगले वित्त वर्ष में सभी संपत्तियों की ‘जियोटैगिंग’, ट्यूलिप महोत्सव पर ध्यान होगा : एनडीएमसी

0
71

नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) वित्त वर्ष 2024-25 के दौरान जिन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा उनमें सभी संपत्तियों की ‘जियोटैगिंग’, सीवरेज प्रणाली दुरुस्त करना और ट्यूलिप महोत्सव आयोजित करना शामिल है।

एनडीएमसी के अध्यक्ष अमित यादव ने बुधवार को अपने बजट भाषण में यह ऐलान किया। उन्होंने कहा, ”वर्ष 2024-25 के बजट अनुमान के तहत कुल 5,069.63 करोड़ रुपये प्राप्त हुए जो वर्ष 2023-24 के संशोधित बजट के तहत दिए गए 4888.93 करोड़ रुपये से अधिक हैं। 2022-23 में कुल वास्तविक प्राप्तियां 4,302.79 करोड़ रुपये थीं।”

यादव ने कहा कि एनडीएमसी ने इस वित्त वर्ष में बेहतर प्रशासन के लिए प्रणालीगत संरचनात्मक हस्तक्षेप पर ध्यान केंद्रित किया है। एनडीएमसी ने आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय से एनडीएमसी सीवरेज प्रणाली को दुरुस्त करने के लिए शहरी विकास निधि (यूडीएफ) योजना के तहत 556 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को मंजूरी देने के लिए कहा है।

यादव ने कहा, ”कर सुधार प्रक्रिया के तहत हम अगले वित्त वर्ष यानी 2024-25 से सभी संपत्तियों की ‘जियोटैगिंग’ करेंगे। ‘जियोटैगिंग’ के तहत जल्द पहचान और ‘ट्रैकिंग’ में सहूलियत के लिए मोबाइल ऐप या एनडीएमसी की वेबसाइट के माध्यम से करदाताओं की संपत्तियों की तस्वीरें अपलोड करना अनिवार्य होगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here