दिल्ली विश्वविद्यालय में जी-20 समापन बैठक आयोजित

0
101

दिल्ली विश्वविद्यालय कल्चर काउंसिल द्वारा आयोजित जी-20 की समापन बैठक का आयोजन विश्वविद्यालय के वाइस रीगल लॉज स्थित काउंसिल हॉल में बुधवार, 27 दिसंबर को हुआ। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. योगेश सिंह ने की। उन्होंने अपने अध्यक्षीय संबोधन में कहा कि भारत जब भी ताकतवर बना है तो विश्व कल्याण की भावना से बना है। कुलपति ने कहा कि जी-20 के माध्यम से भारत ने अपनी वसुधैव कुटुंबकम की भावना को दुनिया के सामने रखा है। इस अवसर पर कुलपति द्वारा कल्चर काउंसिल के सूचना बुलेटिन का विमोचन भी किया गया।

कुलपति ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक खासियत है कि वह सरकारी कार्यक्रम को सरकार से हट कर आम आदमी का कार्यक्रम बना देते हैं। जी-20 को भी उन्होंने जन भागीदारी का कार्यक्रम बना दिया। गाँव देहात तक के लोगों ने किसी न किसी रूप में इससे जुड़ने का प्रयास किया। दिल्ली विश्वविद्यालय ने भी इसमें अपनी भागीदारी निभाई और जी-20 में भारत की अध्यक्षता का जश्न मनाते हुए 28 अगस्त से 29 नवम्बर तक सांस्कृतिक-सह-शैक्षणिक गतिविधियों (कल्चरल कम एकेडमिक एक्टिविटीस) की लंबी श्रृंखला का आयोजन किया। कुलपति प्रो. योगेश सिंह ने कहा कि इन आयोजनों के माध्यम से विद्यार्थियों को एक दूसरे देश की संस्कृति को समझने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि हमें इन आयोजनों के माध्यम से पता चला कि मानव का व्यवहार पूरे विश्व में तकरीबन एक सा ही है।

कार्यक्रम के आरंभ में दिल्ली विश्वविद्यालय कल्चर काउंसिल की संचालन समिति के चेयरपर्सन अनूप लाठर ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि सभी नोडल संस्थानों ने अपने-अपने तरीके से कार्यक्रमों का आयोजन किया। इन आयोजनों के माध्यम से यह जानने का मौका मिला कि दिल्ली विश्वविद्यालय और इसके कॉलेज सांस्कृतिक तौर पर भी बहुत ही समृद्ध हैं। हमारे कॉलेजों के विद्यार्थियों में बहुत ही बढ़िया प्रतिभाएं छुपी हैं। कार्यक्रम के अंत में दिल्ली विश्वविद्यालय कल्चर काउंसिल के डीन प्रो. रविंदर कुमार द्वारा धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया गया।

दिल्ली विश्वविद्यालय कल्चर काउंसिल द्वारा जी-20 के तहत कार्यक्रमों के आयोजन के लिए 15 कॉलेजों और तीन विभागों सहित 18 नोडल केंद्र बनाए गए थे जिनमें सांस्कृतिक कार्यक्रम, संगोष्ठियाँ, समसामयिक मुद्दों पर डिबेट, व्यवसाय और व्यापार पर सेमिनार तथा अन्य प्रासंगिक गतिविधियां आयोजित की गई। दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज, जाकिर हुसैन दिल्ली कॉलेज (इवनिंग), श्री अरबिंदो कॉलेज (Day), जाकिर हुसैन दिल्ली कॉलेज, भास्कराचार्य कॉलेज ऑफ एप्लाइड साइंसेज, मिरांडा हाउस कॉलेज, सत्यवती ईवनिंग कॉलेज, डॉ. भीमराव अम्बेडकर कॉलेज, अदिति महाविद्यालय, भारती कॉलेज, पीजीडीएवी कॉलेज (इवनिंग), किरोड़ीमल कॉलेज, इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वुमेन, जानकी देवी मेमोरियल कॉलेज, लक्ष्मीबाई कॉलेज, डीयू के अरबी विभाग, फारसी विभाग और एंथ्रोपोलॉजी विभाग द्वारा जी-20 कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।