परिणीति चोपड़ा समर्थित क्लेन्स्टा 100 करोड़ रुपये की एआरआर तक पहुंची, एफवाय24 में 300% की वृद्धि

0
134

परिणीति चोपड़ा समर्थित पर्सनल केयर स्टार्टअप क्लेन्स्टा ने कहा है कि एक्ट्रेस से इंटरप्रेन्योर बनीं परिणीति को कंपनी में शामिल करने के बाद, पिछले आठ महीनों में ही उसने 100 करोड़ रुपये का एआरआर (वार्षिक रन रेट) हासिल कर लिया है, और अब अगले तीन वर्षों में एआरआर 1000 करोड़ रुपये तक बढ़ जाने की उम्मीद है। ब्रांड में लगातार भरोसा जताने और समर्थन करने हेतु उपभोक्ताओं को धन्यवाद देने के लिए, क्लेन्स्टा ने अपने #Buy1Give1 अभियान के दूसरे चरण का ऐलान कर दिया है। एफवाय24 के दौरान उक्त अवधि में मिली 300% की उछाल से उत्साहित होकर, क्लेन्स्टा सेम-स्टोर, सेम-सिटी विकास के माध्यम से, अपने मौजूदा 57 ध्यान-केंद्रित शहरों में हर जगह गहरी पैठ बनाना चाहती है। इसके अलावा, क्लेन्स्टा अब रिलायंस, वॉलमार्ट, हेल्थ एंड ग्लो, वेलनेस फॉरएवर, टाटा 1 एमजी, मेट्रो और अपोलो जैसी आधुनिक व्यापार श्रृंखलाओं में भी उपलब्ध है।

ब्रांड ने अपने कामयाब #Buy1Give1 अभियान का दूसरा चरण भी लॉन्च कर दिया है, जिसे सर्वप्रथम पिछले साल नवंबर में शुरू किया गया था- इसके तहत क्लेंस्टा के बेचे गए हर उत्पाद के साथ, ब्रांड ने वंचित लोगों को पेयजल की बोतल प्रदान की थी। यह नेक कार्य, क्लेंस्टा की सभी को जल सुरक्षा उपलब्ध कराने वाली लंबे समय से चली आ रही फिलॉसफी के अनुरूप है। “हम इस शानदार उपलब्धि को हासिल करके रोमांचित हैं। पिछले चार महीनों में क्लेंस्टा ने 1 लाख उत्पाद बेचे हैं, और इस तरह से उसने 1 लाख लोगों की प्यास बुझाई है। एक्ट्रेस से इंटरप्रेन्योर बनीं परिणीति चोपड़ा द्वारा समर्थित, जलरहित व्यक्तिगत स्वच्छता उत्पादों की अग्रदूत क्लेन्स्टा अब अपने अभियान का दूसरा चरण घोषित करने जा रही है। ब्रांड का लक्ष्य यह है कि यूएनडीपी के एसडीजी को दिए जाने वाले अपने समर्थन के अनुरूप, वंचितों को 1 बिलियन लीटर स्वच्छ जल वितरित किया जाए।

हाल ही में सह-संस्थापक के तौर पर आशीष मिश्रा को अपने साथ लेकर, क्लेन्स्टा ने अपनी नेतृत्वकारी टीम को मजबूत बनाया है। इस कंपनी ने, न केवल भारतीय बाजार में अपनी मजबूत ऑनलाइन व ऑफलाइन उपस्थिति दर्ज की है, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपना विस्तार किया है। पिछले साल क्लेन्स्टा ने, ट्रेडक्रेड के नेतृत्व में तथा यूएई के शाही परिवार और परिणीति चोपड़ा सहित अन्य निवेशकों के सह-नेतृत्व में, एक प्री-सीरीज बी फंडिंग राउंड से 75 करोड़ रुपये जुटाए थे।