नए ढांचे के साथ अप्रैल में फिर शुरू होंगे घरेलू टूर्नामेंट, बीएआई की ईसी में हुआ फैसला

0

बहुप्रतीक्षित घरेलू बैडमिंटन सर्किट अप्रैल से शुरू हो रहा है क्योंकि भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) ने संशोधित ढांचे के साथ सीनियर रैंकिंग टूर्नामेंट्स फिर से शुरू करने का फैसला किया है। यह निर्णय बीएआई की कार्यकारी समिति की बैठक के दौरान शनिवार को लिया गया। कोविड-19 महामारी के कारण, राज्य इकाई के सदस्य भारत के सभी हिस्सों से वर्चुअली इस बैठक से जुड़े हुए थे|

बीएआई अध्यक्ष हेमंता विसवा सरमा ने कहा, “कोरोनाकाल हमारे खिलाड़ियों के साथ-साथ खेल से जुड़े सभी हितधारकों के लिए एक कठिन समय रहा है। कोरोना के कारण सबको लंबे समय तक बाहर बैठना पड़ा था। हालांकि, वैक्सीन के आगमन से नई आशा और आत्मविश्वास आया है। हम स्थिति का मूल्यांकन करने के बाद टूर्नामेंट्स का आयोजन कराने का फैसला किया। ये आयोजन सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत होंगे। मैं कह सकता हूं, हम नए सिरे से शुरुआत के लिए तैयार हैं।’’

नई घरेलू संरचना में नवोदित खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर होगा। सीनियर रैंकिंग टूर्नामेंट को अब तीन स्तरों में वर्गीकृत किया जाएगा, जिसमें लेवल 3 में साल में 6 सीरीज टूर्नामेंट होंगे जबकि लेवल 2 में 4 सुपर सीरीज टूर्नामेंट होंगे। प्रीमियर सुपर सीरीज टूर्नामेट को स्तर 1 टूर्नामेंट के रूप में वर्गीकृत किया गया है जिसमें प्रति वर्ष दो टूर्नामेंट होंगे। टूर्नामेंट्स में आकर्षक पुरस्कार राशि भी होगी। लेवल 1 के लिए 10 लाख की पुरस्कार राशि निर्धारित की गई है जबकि लेवल 2 और लेवल 3 में संबंधित टियर टूर्नामेंट्स के लिए क्रमश: 15 और 25 लाख रुपये की इनामी राशि होगी। 
बैठक में मई में होने वाले इंडिया ओपन के बारे में भी चर्चा हुई, जो बैडमिंटन कैलेंडर के सबसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट्स में से एक है और टोक्यो ओलंपिक के लिए अंतिम क्वालीफाइंग टूर्नामेंट भी होगा। खिलाड़ियों के साथ-साथ दर्शकों के लिए भी इस आयोजन को यादगार बनाने के लिए, बीएआई ने इंदिरा गांधी स्टेडियम में नए सिरे से तैयार किया है।

टूर्नामेंट्स को फिर से शुरू करने के साथ, बीएआई ने अप्रैल से सीनियर और जूनियर खिलाड़ियों के लिए सभी राष्ट्रीय शिविरों को फिर से शुरू करने का भी फैसला किया है। जूनियर खिलाड़ी, जो 2024 और 2028 ओलंपिक खेल के लिए संभावित प्रतिभाएं हैं और जूनियर टॉप्स योजना का हिस्सा हैं, को इस शिविर में शामिल किया जाएगा। ये जूनियर खिलाड़ी गुवाहाटी, पंचकुला, गोपीचंद-एसएआई बैडमिंटन अकादमी, पीपीबीए-बैंगलोर और लखनऊ के बाबू बनारसी दास बैडमिंटन अकादमी में पांच बीएआई-एसएआई जूनियर अकादमियों में प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे। जूनियर खिलाड़ियों की ट्रेनिंग चरणबद्ध तरीके से शुरू की जाएगी। 

शिविरों से पहले मार्च तक सभी आवश्यक कोचों का चयन पूरा कर लिया जाएगा। कोच की नियुक्ति के लिए विज्ञापन जल्द ही बीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.