अपने यूजर्स और लोकतांत्रिक प्रक्रिया के प्रति चुनावों में सहयोग करना गूगल की प्रतिबद्धता का एक महत्वपूर्ण तत्व

0
38

2024 के भारतीय आम चुनाव में सहायक की भूमिका। 

भारत में लाखों मतदाता आने वाले महीनों में आम चुनाव में मतदान करने वाले है, मतदाताओं को सही एवं सटीक जानकारी प्रदान करके, हमारे प्लेटफार्मों को दुरुपयोग से बचाने और एआई-जनित कंटेन्ट को नेविगेट करने में लोगों की मदद करके, गूगल इस प्रोसेस में सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है। .

सहायक जानकारी से लोगों को अवगत कराना

चुनाव के चलते, लोगों को चुनावी प्रोसेस को समझने के लिए सही और उपयोगी जानकारी की आवश्यकता होती है। हम हमारे सभी प्रोडक्ट्स में विश्वसनीय कंपनीस का डाटा दिखा कर भरोसेमंद जानकारी, उपयोगी प्रोडक्ट फीचर के साथ आसानी से उपलब्ध कराते हैं|हमारे प्रोडक्ट के फीचर्स इस तरह से डिजाइन किए गए हैं कि वे चुनाव से संबंधित विभिन्न विषयों पर आधिकारिक सूचनाओं को और अधिक उन्नत करते हैं।

  • गूगल सर्च और यू ट्यूब पर मतदान संबंधित जानकारी – हम भारत के चुनाव आयोग के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि लोगों को हिन्दी और अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में किस तरह से रजिस्टर और वोट किया जा सके, जैसी महत्त्वपूर्ण मतदान से संबंधित जानकारी आसानी से खोजने में सक्षम बनाया जा सकें।चुनाव के समय, यू ट्यूब पर मतदान के लिए किस तरह से रजिस्टर किया जाए, किस तरह से मत दिया जाए और उम्मीदवार की जानकारी के अलावा बहुत सारे चुनाव जानकारी से संबंधित पेनल भी प्रसारित किए जाते हैं।
  • यू ट्यूब पर प्रशासनिक जानकारी: यू ट्यूब का रेकमेंडेशन सिस्टम यू ट्यूब के होमपेज, खोज परिणामों और “अप नेक्स्ट” पैनल पर चुनाव से संबंधित प्रशासनिक स्रोतों से प्राप्त समाचार और जानकारी कोप्रमुखता से दिखाता है। यूट्यूब अपने टॉप न्यूज, ब्रेकिंग न्यूज़ शेल्फ़ और न्यूज वॉच पेज के द्वारा महत्वपूर्ण क्षणों के दौरान आधिकारिक समाचार स्रोतों से प्राप्त जरूरी जानकारी को बताता है। इसके अलावा, हमारे पास सूचना पैनल हैं जो सार्वजनिक या सरकारी फंडिंग प्राप्त करने वाले प्रकाशकों से फंडिंग स्रोतों को दर्शाते हैं, साथ ही सूचना पैनल है जोकि गलत सूचना की संभावना वाले विषयों के लिए तात्कालिक कांटेक्स्टदेते हैं। उदाहरण के लिए, खोजे गए परिणामों के ऊपर और इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के वीडियो के नीचे, हम एक सूचना पैनल देते हैं जो दर्शकों को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग पर टेक्निकल और एडमिनिस्ट्रेटिव सिक्युरिटी उपायों पर भारत के चुनाव आयोग के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों (FAQ) के बारे में अवगत कराता है।
  • अपने प्लेटफॉर्म को सुरक्षित रखते हुए गलत जानकारी का विरोध करना

चुनाव की विश्वसनीयता को कायम रखने का तात्पर्य अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ को किसी तरह की बुराई से बचाना है। पूरे गूगल पर हमारी एक मजबूत और लंबे समय से चली आ रही पॉलिसी है जो हमारे प्रोडक्ट और प्लेटफॉर्म को सुरक्षित रखती है। किसी भी तरह के कंटेन्ट में हमारी पॉलिसी सभी यूजर्स के लिए लगातार और एक समान प्रभावी होती है।

  • बड़े पैमाने पर दुरुपयोग से लड़ने के लिए हमारी पॉलिसी को लागू करना और एआई मॉडल का उपयोग करना: हमारे पास स्पष्ट रूप से ऐसी पॉलिसी हैं जो झूठे दावों,जो कि लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को कमजोर कर सकते हैं, को उजागर करती हैं, उदाहरण के लिए, यूट्यूब के कम्यूनिटी दिशानिर्देशों और ऐड्वर्टाइज़र्स के लिए हमारी पॉलिटिकल कंटेंट पॉलिसी। यू ट्यूब के पासमैनिपुलेट मीडिया, हिंसा भड़काने, नफरत फैलाने वाले भाषण और उत्पीड़न जैसे क्षेत्रों के लिए भी समय से चली आ रही पॉलिसी हैं इन पॉलिसी का उल्लंघन करने वाले कंटेन्ट की पहचान करने और उसे हटाने के लिए हम रिव्यूर और मशीन लर्निंग के आपसी तालमेल पर भरोसा करते हैं। हमारे एआई मॉडल दुरुपयोग से लड़ने के हमारे प्रयासों को सामर्थ्य प्रदान कर रहे हैं, जबकि स्थानीय जानकारों की एक समर्पित टीम कंटेन्ट को प्रासंगिकता प्रदान करने के लिए सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में 24X7 काम कर रही है। हम बड़े भाषा मॉडल (एलएलएम) में हाल की उपलब्धि के साथ, तेज और अधिक सुलभ एन्फोर्समेंट सिस्टम बना रहे हैं जो हमें मुस्तैदी से नए खतरे से लड़ने और समय आने पर जरूरी कार्रवाई करने में सक्षम बनाती है।
  • चुनावी विज्ञापनों की ट्रांसपेरेंसी: चुनाव-संबंधी विज्ञापन कौन चला सकता है,इसके बारे में हमारे प्लेटफ़ॉर्म पर में हमारी सख्त पॉलिसी और प्रतिबंध हैं। उदाहरण के लिए, नियत दिशानिर्देशों के अनुसार सभी विज्ञापनदाताओं से अपेक्षा की जाती है कि वे हमारे प्लेटफ़ॉर्म पर चुनावी विज्ञापन चलाने के लिए एक पहचान सत्यापन प्रक्रिया पूरी करें, उन्हें प्रत्येक चलाए जाने वाले चुनावी विज्ञापन के लिए जरूरतनुसार भारत के चुनाव आयोग (ईसीआई) या ईसीआई द्वारा अधिकृत किसी भी व्यक्ति द्वारा जारी पूर्व-प्रमाणपत्र प्रदान करना होगा। साथ ही, जहां आवश्यक हो वहां विज्ञापन के लिए प्रदत्त भुगतान किसने किया है इसकी भी पूर्ण जानकारी देनी होगी। इसके अलावा, हमारे पास दीर्घकालीन विज्ञापन पॉलिसी हैं जो उन विज्ञापनों के स्पष्ट झूठे दावों को बढ़ावा देने से रोकती हैं जो चुनावों की विश्वसनीयता या भागीदारी को कमजोर कर सकते हैं। हम सभी चुनावी विज्ञापनों को और अधिक पारदर्शी बनाने के लिए, एक सर्चेबल हबमें एकत्रित करते हैं ताकि विज्ञापनदाता कौन हैं, कहाँ स्थित हैं और विज्ञापनों पर कितना खर्च किया गया है, इत्यादि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें।
  • गलत सूचना से निपटने के लिए व्यापक एको सिस्टम बनाना: हमारे गूगल के न्यूज इनिश्यटिव ट्रैनिंगनेटवर्कऔर फैक्ट चेक एक्सप्लोरर टूल ने न्यूज़ रूम और पत्रकारों द्वारा गलत सूचना को खारिज करने के लिए विश्वसनीयतथ्य तथा सही अपडेट देने में सक्षम बनाने में मदद की है। हम फैक्टशाला, सच के साथी और यूट्यूब के हिट पॉज़ जैसी इनिश्यटिव के माध्यम से देश भर में लोगों द्वारा ऑनलाइन जानकारी को बेहतर तरीकों से मूल्यांकन करने में मदद करते हैं।

इसके अलावा, आम चुनावों से पहले, गूगल शक्ति, इंडिया इलेक्शन फैक्ट-चेकिंग कलेक्टिव का सहयोग कर रहा है, जो भारत में समाचार प्रकाशकों और तथ्य जांचकर्ताओं का एक समूह है, जो डीपफेक सहित ऑनलाइन गलत सूचनाओं का जल्द पता लगाने में सहायता करने और एक आम समाधान बनाने के लिए मिलकर काम कर रहा है, जिसका उपयोग समाचार प्रकाशक बड़े पैमाने पर गलत सूचना की समस्या से निपटने के लिए कर सकते हैं। समाचार संस्थाओं और तथ्य-जांचकर्ताओं को उन्नत तथ्य-जांच पद्धतियों, डीपफेक का पता लगाने और सत्यापन प्रक्रियाओं को व्यवस्थित करने के लिए फैक्ट चेक एक्सप्लोरर जैसे नए गूगलटूल से संबंधित आवश्यक ट्रैनिंग भी देगा।

लोगों की एआई जनित कंटेन्ट नेवीगेट करने में मदद करना

ज्यादा से ज्यादा लोगों द्वारा आर्टफिशल इन्टेलिजन्स का उपयोग कंटेन्ट बनाने के लिए करने के कारण, हम नए तरीकें तैयार कर रहे हैं जिससे हम अपने दर्शकों को कई नए टूल और पॉलिसी के माध्यम से एआई जनित कंटेन्ट की पहचान करने में मदद कर सकें।

  • ऐड डिस्क्लोजर:पिछले साल, हम सिंथेटिक कंटेन्ट वाले चुनावी ऐड्स के लिए न्यू डिस्क्लोजर रिक्वायरमेंट को लॉन्च करने वाली पहली टेक्निकल कंपनी थे। जैसे-जैसे ज्यादा से ज्यादा विज्ञापनदाता एआई की सुविधाओं और बेहतर अवसर का लाभ उठा रहे हैं, हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि लोगों को अधिक ट्रांसपरेंसी के साथ सही निर्णय लेने में हम उनकी मदद कर सकें। हमारी विज्ञापन पॉलिसी पहले से ही लोगों को डीपफेक अथवा कंटेन्ट या मीडिया से छेड़छाड़ जैसी गतिविधियों पर रोक लगाती आ रही है।
  • यूट्यूब पर कंटेन्ट लेबल: हम दर्शकों को उनके द्वारा देखी जा रही कंटेन्ट के बारे में जहां तक हो सके सही जानकारी प्रदान करने में मदद करना चाहते हैं। हमने पहले ही ड्रीम स्क्रीन जैसी यूट्यूब जेनरेटरेटिव एआई के साथ बनाई जाने वाले कंटेन्ट के लिए लेबल दिखाना शुरू कर दिया है। और जल्द ही, यू ट्यूब के कंटेन्ट क्रीऐटर को यह बताना होगा कि उन्होंने रियलिस्टिक, ऑल्टर्ड या सिंथेटिक कंटेन्ट कब बनाया है, और एक लेबल भी प्रदर्शित करना होगा जो लोगों को वह कंटेन्ट देखते समय दिखाई देगा।
  • जेनरेटिव एआई प्रोडक्ट्स के लिए एक जिम्मेदार सोच:चुनाव-संबंधी प्रश्नों जैसे महत्वपूर्ण विषय पर अत्यधिक सावधानी बरतने हेतु, हमने इसके प्रकारों पर प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है, जिसके लिए जेमिनी जवाब देगी। इस प्रकार के प्रश्नों की गुणवत्ता बढ़ाने के बारे में हमने गंभीरता से सोचा है, और अपनी सुरक्षा में सुधार के लिए लगातार काम कर रहे हैं।
  • यूजर्स को अतिरिक्त संकेत प्रदान करना:अबाउट दिस इमेज में लोगों को ऑनलाइन दिखाई देने वाली इमेज की विश्वसनीयता और कांटेक्स्ट का आँकलन करने में मदद मिलती है। जेमिनी में हमारी डबल-चेक सुविधा यह मूल्यांकन करती है कि वेब पर इसके रीस्पान्स को सही दिखाने के लिए कंटेन्ट है या नहीं।
  • डिजिटल वॉटरमार्किंग:लगातार हम यह सुनिश्चित करने की कोशिश में लगे हुए है कि हमारे प्रोडक्ट्स के माध्यम से बनाई गई प्रत्येक इमेज में गूगलडीपमाइंड के सिंथआईडी के साथ वॉटरमार्किंग शामिल हो।
  • इंडस्ट्री कलैबरेशन:हम हाल ही में C2PA गठबंधन और स्टैन्डर्ड में शामिल हुए हैं, जो AI-जनित कंटेन्ट पर लोगों के लिए अधिक ट्रांसपरेंसी और कांटेक्स्ट प्रदान करने में मदद करने के लिए एक क्रॉस-इंडस्ट्री पहल है।अन्य अग्रणी तकनीकी कंपनियों के साथ मिलकर, हमने इस वर्ष के वैश्विक चुनावों में भ्रामक एआई-जनरेटेड इमेजरी, ऑडियो या वीडियो कंटेन्ट को हस्तक्षेप करने से रोकने में मदद करने का प्रण लिया है। ‘2024 के चुनावों में एआई के भ्रामक उपयोग से निपटने के लिए तकनीकी समझौता’ मतदाताओं को धोखा देने के लिए बनाई गई हानिकारक एआई-जनित कंटेन्ट के दुरुपयोग रोकने के लिए तकनीकी सहायता लेने की प्रतिबद्धताएं शामिल हैं।
  • यह सभी अन्य देशों और क्षेत्रों में चुनाव के लिए हमारे द्वारा किए गए कार्यों का परिणाम है। गूगल, सरकार, इंडस्ट्री, समाज और नागरिकों के साथ काम करने और मतदाताओं को प्रसाशनिक और सही जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here