रिटायर्ड फ़ौजियों के साथ लांच हो रही कैब पैरा फ़ोर्स

0
53

कामकाजी महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अब राजधानी की सड़कों पर जल्द ही कैब पैरा फोर्स दौड़ेगी। कैब पैरा फोर्स महिलाओं की सुरक्षा तो करेगी ही साथ ही दिल्ली पुलिस पैरा मिलिट्री फोर्स और आर्मी के रिटायर्ड जवानों से लेकर ऑफिसर को रोजगार भी मुहैया कराएगी। कैब को चलाने वाले चालकों को कैब कैप्टन के नाम से सम्बोधित किया जाएगा, तो वहीं कैब पैरा फोर्स जीपीएस सेंसर ए सुरक्षा कैमरा सहित अन्य उपकरणों से लैस होगी। यह जानकारी देते हुए कैब पैरा फोर्स के संस्थापक और निदेशक दीपक मुद्गल ने बताया कि राजधानी में कामकाजी महिलाओं की सुरक्षा विशेष तौर से रात के समय काफी अहम है। अनेक बार कैब में कामकाजी महिलाओं के साथ आपराधिक घटनाएं सामने आई हैं।महिलाओं की सुरक्षा कैब में कैसे की जाए इसे लेकर आर्मी के रिटायर्ड अधिकारियों के साथ मिलकर दिल्ली और एनसीआर में कैब पैराफोर्स के नाम से यह कैब सर्विस जल्द शुरू की जा रही है।उन्होंने बताया कि कैब पैराफोर्स को लांच करने के साथ दो उद्देश्य हैंए पहला महिलाओं की सुरक्षा में जो चालक होंगे वो सभी आर्मी और पैरामिलिट्री फोर्स के
सुरक्षा सेवानिवृत्त जवान होंगे। ऑपरेशन टीम में सेना के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे। कैब चालक जिसे कैब कैप्टन का नाम दिया गया है वह महिलाओं की सुरक्षा के लिए कवच साबित होंगे। उन्होंने बताया कि कैब पैरा फोर्स का दूसरा उद्देश्य आर्मी पैरा मिलिट्री फोर्स और पुलिस के सेवानिवृत्त जवान अधिकारियों सहित अन्य रैंक के लोगों को रोजगार मुहैया कराना भी है। अग्निवीर जो कुछ सालों के बाद सेवानिवृत्त होंगे उनको भी रोजगार मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि आर्मी से सेवानिवृत मेजर जनरल डॉक्टर दिलावर सिंह के सहयोग से कैब पैराफोर्स को पहले चरण में दिल्ली, एनसीआर और हैदराबाद में 23 अप्रैल से लांच किया जा रहा है, लेकिन इसको पूरी तरह से मई में सड़कों पर उतारे जाने की तैयारियां चल रही हैं।